बिजली का आविष्कार किसने किया

Spread the love

क्या आप जानते हैं बिजली का आविष्कार किसने किया नहीं तो आप इस आर्टिकल को पुरा अंत तक अवश्य पढ़ें क्योंकि इस आर्टिकल में आपको बिजली का आविष्कार किसने और कब किया इसके बारे में पूरी जानकारी हिंदी में दी गई है।

उस इस दुनिया में कई बड़े-बड़े आविष्कार किए गए हैं जोकि दुनिया को नई ऊंचाई तक ले गये उसी अविष्कार में से सबसे महत्वपूर्ण आविष्कार हमारा बिजली का आविष्कार जोकि इस अविष्कार में हमारी पूरी दुनिया को अंधेरा से मुक्त कर दिया आइए हम इसके बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त करते हैं।

जब बिजली नहीं होता तो शायद हम वही दुनिया में जी रहे होते जिस समय पर चीन काल के लोग मशाल और दिए के इस्तेमाल करते थे ठीक उसी प्रकार हम भी इसका इस्तेमाल करते हैं लेकिन पावर की अविष्कार की वजह से हमारी जीवन अंधेरा से मुक्त हो गया सोने से लेकर के जगने तक बिजली की ही बात करते हैं अगर किसी भी मोबाइल को चार्ज या किसी अन्य डिवाइस को चार्ज करना है तो हमें बिजली की आवश्यकता पड़ती है।

बिजली क्या है? (What is electricity in Hindi)

बिजली एक ऐसा शक्ति है जो बिना कुछ डालें अपने आप उत्पन्न हो जाती है लेकिन बिजली को उत्पन्न करने के लिए हमें कुछ आवश्यक चीज को जरूरत पड़ती है जिसमें हम उदाहरण के तौरपर जरनैटर को ले लेते हैं है जरनैटर को चालू करने पर बिजली उत्पन्न होती है।

इसके अलावा जरनैटर में हम डीजल को डालकर के बिजली को उत्पन्न करते हैं या फिर पानी के माध्यम से बिजली को उत्पन्न किया जाता हैं जब बिजली का आविष्कार नहीं हुआ था तो पूरी दुनिया अंधेरा में जी रही थी और अपना गुजर-बसर दीया और बाती से करते थे।

लेकिन जैसे ही बिजली का आविष्कार हुआ तब बहुत सा काम हमारा आसान हो गया पूरी दुनिया को अंधेरे से मुक्त हो गई वैसे तो लोग बिजली का इस्तेमाल कंपनी,मोबाइल, सरकारी ऑफिस इसके अलावा घरों में भी किया जाता है यानी कि सारा काम बिजली के माध्यम से किया जा सकता है।

बिजली का आविष्कार किसने किया

 बिजली का आविष्कार 1831 में माइकल फैराडे ने इलेक्ट्रिक डायनेमो का आविष्कार किया था तब जाकर के बिजली का इस्तेमाल तकनीकी के लिए किया जाने लगा इसी वजह से बिजली पैदा करने की समस्या दूर हो गई Michael Faraday के द्वारा electric dynamo में एक चुंबकीय लगाया गया था जो कि तांबे को तार में एक कुंडली घूमता था।

और हुआ जैसे जैसे घूमता था वैसे ही तीव्र गति से बिजली प्रभावित होती थी उसके बाद बिजली को तेज करने के लिए कई सारा प्रयोग किया गया और बिजली पर चलने वाले बहूत से उपकरण का आविष्कार किया गया 1878 में Thomas Edison और मित्र ने filament light bulb का आविष्कार किया जो कि और भी वैज्ञानिक ने कई प्रकार के अलग-अलग बल्ब का आविष्कार किया।

बिजली का इतिहास (history of electricity)

विद्युत का आविष्कार नहीं हुआ था बल्कि यह पहले से ही प्रकृति में मौजूद था इसलिए इसका खोज किया गया विद्युत और प्रकाश के बीच संबंध था लेकिन इसका पूरा खोजने की श्रेय बेंजामिन फ्रैंकलिन (Benjamin Franklin) को दिया जाता है।

इसका सबसे पहले खोज महान यूनानी दार्शनिक और भौतिक विज्ञानी थेल्स (Thales of Miletus) के द्वारा खोजा गया था चीड़ का पेड़ का सड़ता हुआ रस या फिर गोंद) को कपड़े पर रगड़ने से यह सूखे पत्तों, पंखों आदि को आकर्षित करने की क्षमता रखता है।

इस एम्बर को ग्रेट में ग्रीक में इलेक्ट्रॉन कहते हैं इसी वजह से थेल्स ने इसका नाम “विद्युत” दिया और यही शब्द बिजली के नाम से इस्तेमाल किए जाने लगे तब जाकर के 1930 के दशक में शोधकर्ताओं ने तांबे के बर्तन पाए जो कि प्राचीन बैटरी बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता था इसी के वजह से प्राचीन रोमन स्थलों पर रोशनी के लिए इस्तेमाल किए जाने लगा इस प्रकार के उपकरण बगदाद पर खुदाई मिला था।

ऐसे माना जाता था कि प्राचीन समय में लोग बैटरी के इस्तेमाल करते थे लेकिन 17 वी शताब्दी में कई शोधकर्ताओं ने बिजली से जुड़ी बहुत से खोज किया उदाहरण के लिए इलेक्ट्रोस्टैटिक जेनरेटर, बिजली में पॉजिटिव,नेगेटिव करंट,कंडक्टरों और इंसुलेटर का वर्गीकरण।

लेकिन 1772 में बेन फ्रैंकलिन (ben franklin) ने एक पतंग को, चाबी के मदद से साबित कर दिया जो बिजली बादल में होती है वहीं बिजली छोटी बिजली में भी होती है यानी कि दोनों बिजली सेम होती है इसके बाद 1800 में इटली के भौतिक विज्ञानी एलेसेंड्रो वोल्टा ने एक शोध में पाया कि विशेष रसायनिक अभिक्रिया से बिजली का उत्पत्ति कर सकते हैं और उन्होंने 1800 में वोल्टाइक पाइल का अविष्कार किया,जो कि लगातार बिजली उत्पन्न करती है।

भारत में बिजली का आविष्कार कब हुआ

डीजल से पहली बार बिजली का उत्पादन भारत के दिल्ली में 1905 में शुरू हुआ इसी को देखते हुए 1902 में मैसूर के जल विद्युत केंद्र बनाए गए।

बिजली का खोज कैसे किया गया

बिजली की खोज अंग्रेज वैज्ञानिक माइकेल फैराडे ने 1820 के दशक के दौरान एवं 1830 के दशक के आरम्भिक काल में किया था। तार की एक कुण्डली को किसी चुम्बकीय क्षेत्र में घुमाकर विद्युत उत्पन्न करने की माइकेल फैराडे की मूल विधि आज भी उसी रूप में प्रयुक्त होती है।

ये भी पढ़े:

अगरबत्ती का आविष्कार किसने किया

चाकू का आविष्कार किसने किया

डीजल इंजन का आविष्कार किसने किया

सिनेमा का आविष्कार किसने 

निष्कर्ष:-

मुझे उम्मीद है कि आपको बिजली का आविष्कार किसने किया इसके बारे में पूर्ण रूप से पता चल गया होगा अगर आपको इसके अलावा और भी सवाल है तो आप हमें कमेंट में बता सकते हैं मैं आपका सवाल की पूरी रिप्लाई देने की कोशिश करूंगा।

अगर हमारे द्वारा लिखे गए आर्टिकल में कहीं पर भी गलती हो तो आप हमें कॉमेंट के जरिए उस आर्टिकल को एडिट करवा सकते हैं।

दोस्तों अगर हमारे आर्टिकल आपको पसंद आया तो इस आर्टिकल को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर करना ना भूलें क्योंकि दोस्तों एक आर्टिकल लिखने में बहुत ज्यादा मेहनत करना पड़ता है इसलिए आपसे अनुरोध है कि आप इस आर्टिकल को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अवश्य शेयर करें।


Spread the love

2 thoughts on “बिजली का आविष्कार किसने किया”

Leave a comment